Chakradhar Samaroh

चक्रधर समारोहtwitter logotwitter logofacebook logo twitter logo

शताब्दी दर शताब्दी बीतती जाती है तब जाकर किसी एक शताब्दी की कोख से पैदा होता है कोई कालजयी सांगीतिक व्यक्तित्व! संगीतमर्मज्ञ महाराजा चक्रधर सिंह ऐसे ही विशिष्ट सांगीतिक व्यक्त्वि के धनी और कलापारखी नरेश थे।

यह चक्रधर समारोह इन्ही कलामर्मज्ञ महाराजा चक्रधर सिंह को पूरे देश की साँझी कलाकार बिरादरी का सांगीतिक और साहित्यिक नमन है।

महाराजा चक्रधर सिंह के राजघराने की पीढ़ी में राजा भूपदेव सिंह के द्वितीय पुत्र गोंडवंष के आदिवासी राजा चक्रधर सिंह का जन्म भाद्र पद संवत् 1962 को हुआ..अधिक जानकारी

आयोजन स्थल

रामलीला मैदान, रायगढ़, छ.ग

आयोजन दिनांक

13-सितंबर-2018 से 22-सितंबर-2018

आमंत्रण

‘चक्रधर समारोह’ महाराजा चक्रधर सिंह के सांगीतिक व्यक्तित्व का स्पंदित रूपांकन है. गायन-वादन और नृत्य के शीर्षस्थ कलाकारों से लेकर नई पीढ़ी के प्रतिभाशाली फ़नकार इस समारोह में शिरकत करते रहे हैं. पद्मभूषण छन्नूलाल मिश्रा जी, पद्मश्री भजन सोपोरी जी, पद्मश्री प्रताप पवार जी, पद्मविभूषण बेगम परवीन सुल्ताना जी, पद्मश्री वारसी बंधु, पद्मश्री कुमकुम मोहंती, पद्मश्री देवधारा ओडिसी, महालक्ष्मी अय्यर एवं रूपकुमार व सुनाली राठौड़ जी इस वर्ष के विशेष आमंत्रित कलाकार हैं. शास्त्रीयता के आग्रह के साथ लोकरुचि के कार्यक्रम शामिल किए जाने से यह समारोह गंभीर श्रोता-दर्शकों के साथ, आमजनों का भी अपना आयोजन बन चुका है. शास्त्रीयता, लोकरंग और महाराजा चक्रधर सिंह के प्रिय खेल कबड्डी तथा कुश्ती के संयोजन के साथ चक्रधर समारोह, प्रदेश का विशिष्ट एवं प्रतिष्ठापूर्ण सांस्कृतिक आयोजन है. सुर-ताल, छंद और घुंघरू की यह सुरीली परंपरा रचनात्मक संयोजन के साथ निरंतर जारी है. इस दस दिवसीय सांस्कृतिक उत्सव में आप सभी कला-प्रेमियों को, मैं सहृदय आमंत्रित करती हूँ.

Collector & District Magistrate, District Raigarh, Smt. Shammi Abidi
कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी श्रीमती शम्मी आबिदी

कार्यक्रम समय सारणी