हस्तशिल्प

रायगढ़ में रेशम उद्योग

रायगढ़ में रेशम उद्योग अत्यधिक वृद्धि वाले उद्योगों में से एक तेजी से वृद्धि करने वाला उद्योग है| यहाँ पर दो तरह के रेशम तासर रेशम एवं मलबरी रेशम का उत्पादन किया जाता है| रेशम उत्पादन कई ग्रामीणों के आजीविका का मुख्य साधन है और जिले में कुछ ग्रामीणों ने बड़े पैमाने में रेशम का उत्पादन कर साड़ी और ड्रेस मटेरियल का उत्पादन कर विदेशो में भी एक्सपोर्ट कर रहे है|

रेशम का उत्पादन रेशम के कीड़ो द्वारा बनाये कोकून से किया जाता है| कोकून से प्राप्त रेशम का उपयोग रेशमी कपड़ो एवं मुख्यतः रेशमी साड़ियो के निर्माण में किया जाता है| रेशमी कपड़े बहुत ही मुलायम एवं मजबूत होते है|

ढोकरा आर्ट

जिले में ढोकरा आर्ट प्रसिद्ध है जिसे झारा आदिवासी द्वारा बड़े पैमाने पर बनाया जाता है| ढोकरा आर्ट में बेल मेटल, ब्रांज और ब्रास धातुओं से मोम का उपयोग कर विभिन्न प्रकार के मूर्ति प्रतिरूप तैयार किया जाता है|